उत्तराखण्ड

पर्वतीय एवं मैदानी क्षेत्र में बरसात से आ रही दिक्कतों को देखते हुए डीएम नैनीताल ने इन अधिकारियों की लगाई फटकार………….. जिले के स्कूल कॉलेजों में फिर घोषित किया अवकाश…………..

हल्द्वानी।
मौसम विभाग देहरादून के द्वारा जारी पूर्वानुमान के अनुसार 04 जुलाई से 06 जुलाई के मध्य जनपद नैनीताल में कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा (रेड एलर्ट) होने की सम्भावना व्यक्त की गई है, साथ ही वर्तमान में जनपद के समस्त पर्वतीय एवं मैदानी क्षेत्रों में मध्यम से भारी वर्षा होने व नदियों, नालों, गधेरों मेें तेज जलप्रवाह की सम्भावना को देखते हुये आपदा प्रबंधन एवं पुर्नवास उत्तराखण्ड शासन के आदेशों के क्रम मंे अपर जिला मजिस्टेªट/ आपदा प्रबंधन प्राधिकरण फिंचाराम चौहान ने सम्भावित आपदाओं के प्रबंधन एवं न्यूनीकरण के दृष्टिगत 04 जुलाई को जनपद के समस्त विद्यालयों, निजी एवं सरकारी विद्यालयों में कक्षा 1 से 12 तक के छात्र-छात्राओं एवं आंगनबाडी केेन्द्रों के लिए अवकाश घोषित किया है।
उन्होंने कहा कि मौसम विभाग की चेतावनी को देखते हुये 04 जुलाई को जनपद के समस्त विद्यालयों, निजी एवं सरकारी विद्यालयों में कक्षा 1 से 12 तक के छात्र-छात्राओं एंव आंगनबाडी केेन्द्रों के लिए अवकाश घोषित किया है।

अपर जिला मजिस्ट्रेट ने कहा कि विचलन की दशा में सम्बन्धित के विरूद्व कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।

हल्द्वानी : 3 जुलाई 2024सूचना : उप जिलाधिकारी परितोष वर्मा ने भारी बरसात में हुए जल भराव वाले स्थान का स्थल निरीक्षण कर संबंधित विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। साथ ही कई जगह जल निकासी के लिए जेसीबी लगाकर काम शुरू करवाया।

बुधवार सुबह से हुई मूसलाधार बरसात की वजह से हल्द्वानी के ग्रामीण इलाकों व लाल कुआं क्षेत्र में कई स्थानों पर जल भराव हुआ। उप जिलाधिकारी ने टीम सहित प्रेमपुर लोसग्यानी में नहर पर अतिक्रमण हटवाया, हिम्मत पुर बैजनाथ में भी जलभराव का निरीक्षण किया, इसके अलावा मोती नगर के पास जमरानी के फीडर नहर सुचारू करवाया, बरसात में ओवरफ्लो होने वाली मंडी से लेकर तीनपानी तक नहर की सफाई भी करवाई और आंवला चौकी में हुई जल भराव को NHAI की मदद से डायवर्ट किया गया ।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआं स्टेशन के समीप लुटेरा महिला के गले से सोने की चेन लूटकर हुआ फरार……………….. पुलिस तलाश में जुटी……………..

उपजिलाधिकारी परितोष वर्मा ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर सभी अधिकारियों को बरसात के मध्य नजर अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं। लालकुआं के विभिन्न इलाकों में हुए जलभराव में तहसीलदार लालकुआं और नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी ने मौके पर पहुंचकर जल भराव के लिए निकासी की व्यवस्था को सुचारू किया। इसके अलावा कई परिवारों को शिफ्ट करने के निर्देश दिए गए हैं साथ ही तात्कालिक नुकसान का आकलन कर राहत राशि भी वितरित करवाने के निर्देश दिए गए हैं।मौके पर तहसीलदार हल्द्वानी सचिन कुमार और अन्य अधिकारी मौजूद थे।

जिलाधिकारी वंदना सिंह ने भारी बरसात के चलते जिले में सरकारी मशीनरी की समीक्षा की।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों को दिन-रात अलर्ट रहने के दिए निर्देश

सड़क खुलवाने में लापरवाही पर अधिशासी अभियंता से मांगा स्पष्टीकरण

DM ने खतरे की जद में आ रहे परिवारों को तत्काल शिफ्ट करने के लिए निर्देश

नैनीताल : 3 जुलाई 2024 सूचना: दिनांक 02 जुलाई, 2024 की रात्रि से जनपद के पर्वतीय एवं मैदानी भागों में हो रही वर्षा में जनपद के विभिन्न क्षेत्रान्तर्गत भू-स्खलन, जलभराव आदि के कारण मार्गों एवं आबादी क्षेत्रों में
आपदा व राहत-बचाव की स्थिति, नगरीय क्षेत्रों के भू-स्खलन / जलभराव से संवेदनशील स्थानों में तात्कालिक सुरक्षात्मक कार्यों, बंद मार्गों को सुचारू किये जाने हेतु लोक निर्माण विभाग के समस्त खण्डों द्वारा मौके पर तैनात जे.सी.बी. मशीनों आदि का सत्यापन करते हुए तत्काल मार्ग सुचारू किये जाने के दृष्टिगत जिलाधिकारी वंदना सिंह ने जिला आपाताकलीन परिचालन केन्द्र, नैनीताल में आकर क्षति एवं राहत-बचाव कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए।

समीक्षा के दौरान डीडीएमओ शैलेश कुमार ने अवगत कराया गया कि जनपद में पिछले 24 घण्टे में सर्वाधिक वर्षा हल्द्वानी में 111 मिमी रिकार्ड की गई है तथा औसत दैनिक वर्षा 46.4 मिमी आंकी गई है। वर्षा/अतिवृष्टि के कारण लोक निर्माण विभाग / पी.एम.जी.एस.वाई. के कुल 14 मार्ग बाधित चल रहे हैं तथा शेरनाला व सूर्यानाले में जल प्रवाह बढ़ने से डावर्जन किया गया है। जनपद में लगातार हो रही वर्षा के कारण नालों / गधेरों में जलप्रवाह बढ़ने से होने वाली सम्भावित दुर्घटनाओं को नियंत्रित किये जाने एवं बच्चों की जानमाल की सुरक्षा हेतु जिलाधिकारी ने आज दिनांक 03 जुलाई, 2024 को उप जिलाधिकारियों / खण्ड शिक्षाधिकारियों के माध्यम से पर्वतीय क्षेत्रों के समस्त विद्यालयों में अवकाश घोषित करने के निर्देश दिए गए।

यह भी पढ़ें 👉  इन लोगों ने धोखे में रखकर स्वयं के साथ-साथ सरकारी भूमि भी 34 लाख रुपए में बेची............... कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने उठाया यह महत्वपूर्ण कदम.................

जिला आपाताकलीन परिचालन केन्द्र, नैनीताल द्वारा भूस्खलन के कारण लोक निर्माण विभाग के विभिन्न खण्डों में बन्द मार्गों को सुचारू किये जाने हेतु तैनात जे.सी.बी. मशीनों के चालकों से सीधे दूरभाष के माध्यम से उनकी लोकेशन ज्ञात कराई गई।
पी.एम.जी.एस.वाई., काठगोदाम के बंद मार्ग मोरनोला-भीड़ापानी मार्ग को सुचारू किये जाने हेतु तैनात
जे.सी.बी. चालक द्वारा अपनी लोकेशन नरतोला बताई गई परन्तु मार्ग के बंद होने के सम्बन्ध में उन्हे कोई सूचना नहीं थी एवं न ही उनके द्वारा मार्ग सुचारू किये जाने का कोई कार्य किया जा रहा था। इसी प्रकार हरीशताल मोटर मार्ग हेतु जे.सी.बी. चालक का विवरण पी.एम.जी.एस.वाई., काठगोदाम द्वारा पूर्व से आपदा
प्रबंधन विभाग को उपलब्ध नहीं कराया गया था। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिशासी अभियंता से स्पष्टीकरण लिया है। अधिशासी अभियंता, प्रांतीय खण्ड, लोक निर्माण विभाग, नैनीताल को चार्टल लॉज, मल्लीताल में गत वर्ष हुए भूस्खलन से संवेदनशील क्षेत्र को सुरक्षित किये जाने हेतु
तत्काल पालीथीन से कवर किये जाने तथा उप जिलाधिकारी, नैनीताल को नायब तहसीलदार, नेनीताल के
माध्यम से मौके का निरीक्षण करते हुए संवेदनशील घरों में रह रहे परिवारों को तत्काल अन्यत्र चले जाने हेतु नोटिस निर्गत किये जाने के निर्देश दिए गए।

जिलाधिकारी महोदया द्वारा मुख्य चिकित्साधिकारी, नैनीताल को पूर्व में दिए गए निर्देशों के द्वारा मानसून सत्र के दौरान संवेदनशील क्षेत्रों में रह रही ऐसी महिलाओं जिनकी
प्रसूति अगले 04 माह में due है, से सम्बन्धित ए.एन.एम./ आशा वर्कर के माध्यम से सम्पर्क करते हुए सुरक्षित
प्रसव कराए जाने हेतु की जा रही कार्यवाही की दूरभाष के माध्यम से समीक्षा की गई।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से देवखंडी नाले में बहे आकाश का शव लालकुआं क्षेत्र में इस हालत में मिला……………….. परिजनों में मचा कोहराम………….

मुख्य चिकित्साधिकारी,
नैनीताल द्वारा अवगत कराया गया कि ऐसी महिलाओं की सूची तैयार कर समस्त ए.एन.एम./ आशा तथा
राजस्व विभाग को उपलब्ध कराते हुए इनकी चिकित्सकीय स्थिति की सतत् निगरानी कराई जा रही है। अतिवृष्टि के दौरान मार्ग बाधित होने अथवा आपदा की अन्य घटना से इनके प्रसव में होने वाली दिक्कतों का आंकलन करते हुए इन्हे कुछ समय पूर्व से ही निकटतम चिकित्सालय में भर्ती किये जाने की कार्यवाही गतिमान है।

जिलाधिकारी महोदया द्वारा समस्त राजस्व अधिकारियों को क्षेत्र में लगातार भ्रमण करते हुए भूस्खलन / जलभराव की स्थिति का निरीक्षण कर सम्बन्धित नगर निकाय, सिंचाई अथवा लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों एवं संसाधनों से तत्काल राहत कार्य कराने एवं किये जा रहे राहत व बचाव कार्यों की प्रगति उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिए गए।

जिलाधिकारी वंदना सिंह ने बुधवार को रुसी गांव और बाई पास स्थित कलमठ, सड़क और पेयजल की स्थितियों का स्थलीय निरीक्षण किया। सड़क और कलमठ के निरीक्षण के दौरान उन्होंने 1 किलोमीटर के भीतर करीब 5 से 6 कलमठ बनाने की बात कही, जिससे सड़कों में टूट फूट या सड़क खराब नहीं हो सके। साथ ही बेहतर गुणवत्ता के साथ कलमठ बनाने बात कही। उन्होंने 15 दिन भीतर सर्वे कर ड्रेनेज कार्य शुरु करने के निर्देश दिए। साथ ही ड्रैनेज से पहले डामरीकरण नहीं करने की बात कही।
उन्होंने अधिकारियों को अगले सीजन तक रुसी बाई पास में रुके कार्य को प्राथमिकता से करने के निर्देश दिए।

इस दौरान एसडीएम प्रमोद कुमार,ईई लोनिवि रत्नेश सक्सेना समेत अन्य विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।
……………………………..

To Top