उत्तराखण्ड

बाबा तरसेम सिंह हत्याकांड में पुलिस ने की जबरदस्त करवाई………… किए तीन आरोपी अरेस्ट………… मिले महत्वपूर्ण साक्ष्य………..

नानकमत्ता केस अपटेड

श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ऊधमसिंह नगर डॉ0 मंजुनाथ टीसी महोदय द्वारा नानकमत्ता हत्याकांड के संबंध में दिया गया महत्वपूर्ण अपडेट।
हत्याकांड के लिए अपराधियों को एकत्रित करने, संसाधन जुटाने और हथियार उपलब्ध कराकर षड़यंत्र में शामिल 03 अन्य आरोपियों को किया गया गिरफ्तार।

पूर्व में भी हत्याकांड के 04 षडयंत्र कारियो को भेजा जा चुका है जेल।

गिरफ्तार अपराधियों पर विभिन्न राज्यों में दर्ज हैं हत्या, लूट, गैंगस्टर जैसे जघन्य अपराध सम्बंधित दर्ज़नो मुकदमे।

हत्या में शामिल मास्टर प्लानर के विरुद्ध महत्वपूर्ण साक्ष्य एकत्रित किए जा रहे है , की जाएगी सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही।

दोनो फरार अपराधियों (शूटरों) पर ईनाम राशि 50 हजार से बढ़ाकर की गई 01 लाख रूपए।

एसएसपी ऊधमसिंह नगर की सख्त चेतावनी मामले को लेकर बिना वजह के बयानबाजी और सोशल मीडिया में अफवाह फैलाने वालों के विरुद्ध भी की जाएगी सख्त वैधानिक कार्यवाही।
(घटना का विवरण)
दिनांक 28/03/24 की प्रातः डेरा कार सेवा नानकमत्ता के जत्थेदार बाबा तरसेम सिह की 02 अज्ञात मोटर साइकिल सवार व्यक्तियों ने गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। उक्त घटना की सूचना मिलने पर श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय जनपद उधमसिंह नगर एवं श्रीमान पुलिस अधीक्षक नगर रुद्रपुर एवं क्षेत्राधिकारी खटीमा एवं क्षेत्राधिकारी सितारगंज व जनपद के अलग- अलग थानों के थानाध्यक्ष व प्रभारी निरीक्षकों तथा फील्ड यूनिट जनपद उधमसिंह नगर, विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम, एसओजी टीम एवं एसटीएफ कुमायूं रेंज उत्तराखंड आदि द्वारा मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया गया | जिनको श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा घटना के खुलासे हेतु निर्देश दिए गए एवं घटना के खुलासे के लिए श्रीमान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय के द्वारा कुल 11 टीमों का गठन किया गया प्रत्येक टीम को घटना के खुलासे हेतु अलग-अलग कार्य आवंटित किए गए | घटना के परिपेक्ष में श्रीमान पुलिस उपमहा निरीक्षक कुमायूं परिक्षेत्र महोदय द्वारा भी घटनास्थल का निरीक्षण एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थलों का निरीक्षण किया गया तथा गठित टीमों को अनावरण हेतु उचित दिशा निर्देश दिए गए | घटना की संवेदनशीलता के दृष्टिगत श्रीमान पुलिस महानिदेशक उत्तराखंड महोदय के द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण किया गया और घटना के खुलासे हेतु स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम SIT का गठन किया गया।
पुलिस द्वारा की गई जांच की कार्यवाही का विवरण
दौराने विवेचना पूर्व में ही मुकदमा उपरोक्त में मृतक बाबा तरसेम सिंह की हत्या एक पूर्व नियोजित षडयन्त्र के तहत किया जाना स्पष्ट हो गया था। पुलिस द्वारा पूर्व में बाबा तरसेम सिंह की हत्या की साजिश में
1- दिलबाग सिंह
2-बलकार सिंह
3-हरविन्दर सिंह उर्फ पिन्दी
4-अमरदीप सिंह को गिरफ्तार किया जा चुका है। जाँच के दौरान सर्विलॉस, सीसीटीवी कैमरे की निगरानी एवं पूछताछ से यह भी तथ्य प्रकाश में आया था कि अभियुक्तगण परगट सिंह पुत्र सोबरन सिंह निवासी तुलापुर थाना बिलसण्डा पीलीभीत तथा सुल्तान सिह निवासी ग्राम दडहा थाना बिलासपुर व सतनाम सिह निवासी कुईया महोलिया थाना बन्डा शाहजहांपुर भी बाबा तरसेम सिंह की हत्या की साजिश में शामिल हैं। सुल्तान सिह मुकदमा उपरोक्त में शूटर अमरजीत सिह उर्फ बिट्टू के निकट सम्पर्क में था तथा बिट्टू को हत्याकाण्ड के लिये तैयार करने वाला सुल्तान सिह ही है। सुल्तान सिह का काफी लम्बा चौड़ा आपराधिक इतिहास है। अभियुक्त परगट सिह को मुखबिर की सूचना के आधार पर दिनांक 06.04.2024 को पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया है। विवेचना में यह तथ्य प्रकाश में आये कि जिस हथियार 315 बोर की रायफल से बाबा तरसेम सिंह की हत्या की गई है, वह अस्लाह बाजपुर निवासी 1- जसपाल सिंह भट्टी उर्फ मिन्टू पुत्र सतपाल सिंह निवासी केशोवाला मोड थाना बाजपुर जिला ऊधमसिंह नगर 2- सुखदेव सिंह गिल उर्फ सोनू गिल पुत्र सत्यपाल सिंह निवासी बन्नाखेडा थाना बाजपुर द्वारा मुकदमा उपरोक्त के शूटर अमरजीत सिंह उर्फ बिट्टू तथा सरबजीत सिंह को बाजपुर में ही उक्त हत्या के षड़यन्त्र में सम्मिलित होकर दिनांक 17.03.2024 को जसपाल सिंह भट्टी उर्फ मिन्टू की स्विफ्ट कार को उपलब्ध कराया था। उक्त स्विफ्ट कार पुलिस द्वारा पूर्व में ही बरामद कर ली गयी है। शूटर अमरजीत उर्फ बिट्टू तथा जसपाल सिंह भट्टी उर्फ मिन्टू आपस में फुफेरे भाई है, दोनों मूल रूप से सिहोर बिलासपुर के रहने वाले है व वर्ष 2014 में थाना रुद्रपुर से एटीएम चोरी व पुलिस टीम पर जानलेवा हमले के मामले में दोनों जेल जा चुके हैं। पुलिस टीम द्वारा दिनांक 06.04.2024 को अभियुक्त जसपाल सिंह भट्टी और दिनांक 07.04.2024 को सुखदेव सिंह गिल को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। अभियुक्त जसपाल सिंह भट्टी उर्फ मिन्टू एवं सुखदेव सिंह उर्फ सोनू वर्ष 2011 में थाना बाजपुर से हत्या के मामले में साथ-साथ जेल भी गये है। जसपाल सिंह भट्टी थाना किच्छा का गैगेस्टर भी रहा है जिसके विरुद्ध उत्तराखण्ड व उत्तर प्रदेश में उपरोक्त अपराध से पूर्व में हत्या के दो मुकदमे सहित 09 अन्य मुकदमे पंजीकृत है। अभियुक्त परगट सिंह के आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है।
अभियुक्तगणों का आपराधिक इतिहास –
A- जसपाल सिंह भट्टी उर्फ मिन्टू पुत्र सतपाल सिंह निवासी केशोवाला मोड थाना बाजपुर जिला ऊधमसिंह नगर

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआं क्षेत्र की पिछले 24 घंटे से विद्युत आपूर्ति भंग होने के चलते पेयजल एवं विद्युत का गंभीर संकट उभर कर आया सामने...............

1-FIR NO-250/2011 धारा 302/201/364/504/506 IPC कोतवाली बाजपुर जनपद ऊधमसिंह नगर

2-FIR N0-436/2014 धारा 380/511/307/427 IPC व 4/25 A Act कोतवाली रुद्रपुर

3-FIR NO-149/2015 धारा 302/201 IPC थाना बिलासपुर जिला रामपुर उत्तर प्रदेश ।

यह भी पढ़ें 👉  लालकुआं में पिछले 48 घंटे से विद्युत आपूर्ति ठप्प…………….. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया राज्य सरकार और बिजली विभाग का पुतला दहन…………… देखें वीडियो…………..

4-FIR N0-2618/2006 धारा 379/411 IPC थाना रुद्रपुर

5-FIR N0-3449/2006 धारा 379/411 IPC थाना रुद्रपुर

6-FIR N0-4687/2006 धारा 379/411 IPC थाना रुद्रपुर

7- 8- मु० अ० सं0-2479/2006 धारा 41/102 द0 प्र0 सं0 व 411/471/467/420

यह भी पढ़ें 👉  गौला के तेज प्रवाह से बचाने के लिए गांव की ओर 8 करोड़ की लागत से बनेगी स्थाई सुरक्षा दीवार.......... जिलाधिकारी ने किया गौला नदी, लालकुआं और बिंदुखत्ता का व्यापक निरीक्षण.............. बिंदुखत्ता और लालकुआं से लगी कॉलोनियों को दी यह सौगात................ देखें वीडियो..............

8-मु० अ० सं0-2738/2006 धारा 379 भादवि थाना बारादरी जिला बरेली उ० प्र०

9-भादवि व 2/3 गैंगेस्टर एक्ट थाना किच्छा 9- मु० अ० सं0-NIL /2006 धारा 41/102 20 प्र0 सं0 व 411 भादवि थाना किच्छा

10-FIR NO-83/2024 धारा 302/34/120B/307 IPC थाना नानकमत्ता जिला ऊधमसिंह नगर ।

B- सुखदेव सिंह गिल उर्फ सोनू गिल पुत्र सत्यपाल सिंह निवासी बन्नाखेडा थाना

बाजपुर जिला ऊधमसिंह नगर

1-FIR NO-250/2011 धारा 302/201/364/504/506 IPC कोतवाली बाजपुर जनपद ऊधमसिंह नगर

2-FIR N0-83/2024 धारा 302/34/120B/307 IPC थाना नानकमत्ता जिला ऊधमसिंह नगर।

षड्यन्त्र में शामिल अभियुक्त सुल्तान सिह का आपराधिक इतिहास

1-मु0अ0 सं0 1464 ए/2010 धारा 147/323/324 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ० प्र०

2- मु0अ0 सं0 403/2008 धार 147/379/504/506 भादवि व 3 (1) एससी/एसटी एक्ट थाना बिलासपुर उ० प्र०

3- मु0अ0 सं0 443/1996 धारा 307/506 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ० प्र०।
4- मु0अ0 सं0 1124/2005 धारा 467/468/471/420 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ० प्र
5- मु0अ0 सं0 369/2008 धारा 147/148/307/323/504/506 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ० प्र०
6- मु0अ0 सं0 494/2010 धारा 307/417/148/392/323 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ० प्र०
7- मु0अ0 सं0 320/2011 धारा 147/323/506 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर 30प्र०

8- मु0अ0 सं0 18/2005 धारा 41/102 द0 प्र0 सं0 व 411/467/468/420/471 भादवि थाना बिलासपुर रामपुर उ० प्र०
9- मु0अ0सं0 14/2005 धारा 41/102 द० प्र० सं० व
411/467/468/420/471/120B भादवि थाना भोट रामपुर उ० प्र०
10- मु0अ0 सं0 18/2005 धारा 41/102 द० प्र० सं0 व 411 भादवि थाना भोट
रामपुर उ० प्र०
11- मु0 FIR NO-83/2024 धारा 302/307/34/120B भादवि थाना नानकमत्ता जिला उधमसिंह नगर
मीडिया सेल उधमसिंह नगर पुलिस

To Top