उत्तराखण्ड

मंदिर में चढ़ावे की रकम को लेकर पुजारियों के बीच हुआ विवाद…………. एक पुजारी दूसरे की हत्या करने के उद्देश्य से तमंचा खरीदने पहुंच गया दिल्ली…………. हुआ यह कांड…………..

हल्द्वानी निकटवर्ती मंदिर में चढ़ावे के सामान को लेकर मुख्य पुजारी को मारने के षडयंत्र में दो षडयंत्रकारियो को बेतालघाट थाना पुलिस ने घटना से पूर्व से ही गिरफ्तार कर भेजा गया जेल

          

दिनांक 22.08.23 को थानाध्यक्ष बेतालघाट को मुखबिर खास द्वारा सूचना दी गई कि स्थानीय बेतालघाट का रहने वाले रंजन गोस्वामी व गोपाल पडियार नि0 चापड़ बेतालघाट जो दो हफ्ते पहले अवैध असलाह लेने के लिये दिल्ली गये थे और आजकल एक साथ रह रहे है, हो सकता है ये लोग या तो कुछ अप्रिय घटना करके आये है या फिर कोई अप्रिय घटना करने वाले है।
उक्त सूचना पर दोनों संदिग्ध क्रमशः रंजन गिरी गोस्वामी पुत्र प्रेम गिरी गोस्वामी उम्र 19 वर्ष निवासी ग्राम कमेडुवा भिक्यासैण थाना भतरौजखान जिला अल्मोडा हाल निवासी बेतालघाट थाना बेतालघाट जनपद नैनीताल व गोपाल सिंह पडियार पुत्र अनूप सिंह पडियार नि0 चापड़ बेतालघाट नैनीताल उम्र-24 को पूछताछ हेतु थाना बेतालघाट लाया गया तो कई रहस्य उजागर हुए।
पुलिस की कड़ी पूछताछ में आरोपी गोपाल सिंह पडियार द्वारा बताया गया कि लगभग 6 महिने पहले बेतालघाट में स्थापित बेतालेश्वर मन्दिर के पुजारी चन्दन नाथ गोस्वामी से चढ़ावे के तेल एवम अन्य सामानों को लेकर बहस हुई थी और उस दिन मेरे द्वारा आवेश में आकर पुजारी चन्दन नाथ का गला पकड़कर मारने का प्रयास किया गया।
मंदिर पुजारी चन्दन व मेरे बीच मन्दिर के चढ़ावे की सामाग्री को लेकर आये दिन लड़ाई झगड़ा होता था क्योंकि मैं भी उसी बेतालेश्वर मंदिर प्रांगण में स्थापित नकुआ बूबू मंदिर में पुजारी हूं। जब मुझे ये लगा कि ये मानने वाला नही है और इसी के पास सारा चढ़ावे का सामान जा रहा है तब मेरे मन में उसके प्रति और ज्यादा नफरत हो गयी और मैने उसे जान से मारने का प्लान बनाया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी के इस प्रतिष्ठित बैंकट हॉल में शादी के दौरान इस बात पर हुई जबरदस्त मारपीट………… इलाज के लिए पहुंचे अस्पताल तो वहां भी भिड़े दोनों पक्ष…………….. पुलिस सीसीटीवी खंगालने में जुटी……….. ……


चन्दन को जान से मारने के लिये मुझे देशी तमंचे की आवश्यकता थी तब मेरे द्वारा रंजन से मुलाकात की क्योकि रंजन ने इन्स्ट्राग्राम पर कई बार देशी तमंचे की फोटो लगायी थी। तब मुझे लगा कि रंजन आसानी से मुझे तमंचा दिला सकता है। तब मैने रंजन से मुलाकात की और चन्दन को मारने के लिये तमंचे को खरीदने का प्लान बनाया।
चूंकि मंदिर में चढ़ावे की सामाग्री न मिलने के कारण असंतुष्ट होने पर गोपाल सिंह पडियार द्वारा बेतालेश्वर मंदिर के मुख्य पुजारी चन्दन नाथ गोस्वामी पुत्र गोपाल नाथ गोस्वामी नि0 जोशीखोला डाभर बेतालघाट को रंजन गिरी गोस्वामी के साथ मिलकर हत्या करने की साजिश रचते हुए अवैध देशी तमंचा लेने की योजना बनायी व अवैध देशी तमंचे को लाने हेतु रंजन गिरी गोस्वामी के साथ मो0साईकिल से दिल्ली गये व संबंधित से अवैध असलाह लेने हेतु उसके अकाउंट में रुपए भेजे गए। रुपए भेजने के उपरान्त तमंचे व कारतूसों की फोटो संबंधित व्यक्ति द्वारा रंजन को जरिये व्हाट्सअप भेजी गयी। लेकिन पुजारी की हत्या के लिए तय दिनांक को असलाह न पहुचने के कारण गोपाल पडियार व रंजन गिरी गोस्वामी घटना को अंजाम नही दे पाये। परन्तु दोनो द्वारा मृत्यु या आजीवन कारावास से दण्डनीय अपराध का षड्यंत्र किया गया। उक्त जुबानी तहरीर के आधार पर थाना बेतालघाट पर मु0एफआईआर न0 15/23 धारा 115/120 बी भादवि बनाम गोपाल सिंह पडियार व रंजन गिरी गोस्वामी पंजीकृत करते हुए दोनो आरोपियों को गिरफ्तार कर मा. न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर न्यायिक हिरासत भेजा गया।
गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में

  1. थानाध्यक्ष बेतालघाट श्री मनोज सिंह नयाल
    2- उ0नि0 हरि राम
    3- कानि0 23 अनिल कुमार। *मीडिया सेल* *जनपद नैनीताल*।
To Top